जर्मनी बाढ़ के बाद की स्थिति से कैसे जूझ रहा, देखिए- तस्वीरें

Contacts:
22 जुलाई 2021

अपडेटेड 23 जुलाई 2021

Bad flood, 19 Jul 21

इमेज स्रोत, Getty Images

जर्मनी की चांसलर एंगेला मर्केल हाल ही में जर्मनी के बाढ़ प्रभावित इलाक़ों का दौरा करने पहुँचीं, जहाँ उन्होंने घोषणा की कि “कुछ ही दिनों के भीतर सरकारी ऐड मुहैया कराई जायेगी.”

उन्होंने जर्मनी में आयी बाढ़ को 700 साल की ‘सबसे बुरी बाढ़’ बताया.

उन्होंने कहा कि “एक ही चीज़ है जिसे देखकर संतोष होता है, वो ये कि हमारे लोगों में एकजुटता का भाव क़ायम है.”

उन्होंने अपने इस दौरे में कुछ बेघर हुए लोगों से बात की. उन्होंने लोगों को हिम्मत बंधाई.

जर्मनी के बाढ़ प्रभावित इलाक़ों में डोनेशन देने वाले और ऐड पहुँचाने वाले कई समूह देश के विभिन्न हिस्सों से काम करने के लिए पहुँचे हैं.

चांसलर एंगेला मर्केल ने चेतावनी दी कि बाढ़ से हुई टूट-फूट यानी टूटे हुए बिजली के खंबों, पानी की लाइनों, सड़कों और पुलों को ठीक करने में कई महीने का समय लग सकता है.

साल 2005 से जर्मनी की सत्ता संभाल रहीं चांसलर एंगेला मर्केल इस साल सितंबर में होने वाले चुनाव में नहीं खड़ी होंगी.

Chancellor Merkel visiting Bad Münstereifel with CDU's Armin Laschet (R)

इमेज स्रोत, Reuters

Wrecked railway line in Altenahr, 19 Jul 21

इमेज स्रोत, AFP

A smashed bridge in Ahrweiler

इमेज स्रोत, Getty Images

बताया गया है कि 15 जुलाई के क़रीब जब बाढ़ सबसे प्रचंड रूप में थी, तब जर्मनी में 160 से ज़्यादा लोगों की मौत हुई.

स्थानीय प्रशासन के अनुसार, बाढ़ की चेतावनी देने वाले वॉर्निंग सिस्टम में कुछ खामियाँ भी पायी गई हैं.

प्रेस से बात करते हुए कुछ स्थानीय लोगों ने कहा कि “हमारे पास पानी नहीं है, बिजली नहीं है और गैस भी नहीं है.”

एक शख़्स ने कहा, “टॉयलेट बंद पड़े हैं क्योंकि उनमें पानी नहीं है. कुछ भी काम नहीं कर रहा. आप नहा नहीं सकते. मैं 80 साल का हूँ और मैंने अपने जीवन में कभी ऐसी परिस्थितियाँ नहीं देखीं.”

Bad Münstereifel food relief centre visited by Mrs Merkel, 20 Jul 21

इमेज स्रोत, Getty Images

नदियों में पड़ीं क्षतिग्रस्त गाड़ियों को निकालना अब भी सबसे बड़ी चुनौती है.

इमेज स्रोत, AFP

A flood crater in Altenahr, 19 Jul 21

इमेज स्रोत, AFP

मंगलवार को बेल्जियम में भी बाढ़ की वजह से मारे गये लोगों के लिए एक विशाल शोक सभा आयोजित की गई.

बेल्जियम प्रशासन के अनुसार, उनके यहाँ बाढ़ के कारण कम से कम 31 लोगों की मौत हुई.

किंग फ़िलिप और क्वीन मेथिल्डा ने भी बाढ़ पीड़ितों के लिए एक मिनट का मौन रखा. इस अवसर पर बेल्जियम के प्रमुख शहरों में सायरन बजते सुनाई दिये.

Queen Mathilde of Belgium and King Philippe in Verviers, 20 Jul 21

इमेज स्रोत, AFP

Pepinster flood damage, 19 Jul 21

इमेज स्रोत, AFP

सभी तस्वीरें कॉपीराइट के अधीन हैं.

Posted in: Hindi News Posted by: admin On: